गीता के उपदेशज्ञान

गीता के श्लोक

नैनं छिद्रन्ति शस्त्राणि नैनं दहति पावक: ।न चैनं क्लेदयन्त्यापो न शोषयति मारुत ॥(द्वितीय अध्याय, श्लोक 23)हिंदी अनुवाद: आत्मा को न शस्त्र काट सकते हैं, न आग उसे जला सकती है। न पानी उसे भिगो सकता है, न हवा उसे सुखा सकती है। कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन।मा कर्मफलहेतुर्भूर्मा ते सङ्गोऽस्त्वकर्मणि॥(द्वितीय अध्याय, श्लोक 47)हिंदी अनुवाद: कर्म पर ही तुम्हारा […]